इंदौर में छात्रा की मौत में तीन महीने बाद ट्यूशन टीचर का सरेंडर

इंदौर

इंदौर के लसूडिया की 10-11 ग्रैंड होटल में नवविवाहिता ईशा जैन के सुसाइड के मामले में आरोपी कोंचिग टीचर संदीप तोमर ने सरेंडर कर दिया। आरोपी उससे 16 साल बड़ा है। उस पर नवविवाहिता से शादी से पहले हुई ट्यूशन और उसके बाद के मैसेजेज की आड़ में ब्लैकमेल और प्रताड़ित करने का आरोप है। तंग आकर नवविवाहिता ने 6 मई को सुसाइड किया था। उसके बाद से आरोपी फरार था। गुरुवार को पुलिस उसे थाने से मेडिकल कराने एमवाय पहुंची। इसके बाद जेल भेज दिया गया।

इस बीच युवती के परिवार ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। परिवार ने टीचर के मोबाइल जब्त करने से लेकर अन्य कई शिकायतें पुलिस अफसरों से की है। परिवार ने पूछा है कि ईशा के पास जहर से कहां आया, इसकी पड़ताल भी की जाना चाहिए।

सुसाइड के तीन दो-दिन पहले वे टू कमिट सुसाइड सर्च किया था ईशा ने
पुलिस की जांच में जब्त मोबाइल ने कई राज उगले हैं। मोबाइल से पता चला है कि ईशा ने 3 मई को मोबाइल में वे टू कमिट सुसाइड (आत्महत्या करने का तरीका) ऑनलाइन सर्च किया था। ईशा 3 मई को अपने ऑफिस से दोपहर 2 बजे ही निकल गई थी। इसके 6.30 घंटे बाद यानी रात 8.30 बजे ईशा ने ननद को कॉल किया। दो दिन बाद सुसाइड कर लिया था।

संदीप को हाईकोर्ट से विड्राल कराना पड़ी जमानत
फरार चल रहे आरोपी संदीप ने वकील के माध्यम से हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। तर्क दिया कि ईशा के सुसाइड का कारण मैं नहीं, बल्कि पति और उनके बीच का विवाद है। इसी के चलते पति उसे मायके में छोड़कर आ गया था। वह शादीशुदा थी, समझदार थी।

इसके जवाब में ईशा की ओर से पैरवी कर रहे वकील ने तीन लाख मैसेज की बात रखी। हाईकोर्ट ने जमानत खारिज कर दी। इसके बाद संदीप के वकील ने तुरंत जमानत अर्जी वापस ले ली।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button